टैग पुरालेख: film review

फ़िल्म समीक्षा – डिटेक्टिव ब्योमकेश बख़्शी

फ़िल्म समीक्षा – डिटेक्टिव ब्योमकेश बख़्शीडिटेक्टिव ब्योमकेश बख्शी अच्छी है शानदार नहीं। खुल के कहूँ तो ठीकठाक है। इसमें जो सबसे अच्छा है वह है कला निर्देशन। यानी जो 1942 का सेट वगैरह है वह उम्दा है। लेकिन निर्देशन में वो बात नहीं है। फ़िल्म आवश्यकता से अधिक “लाउड” है। एक सुपरिचित जासूस कथा को हिंदी में प्रस्तुत करने से पहले उस पुराने धारावाहिक पर विचार कर लेना चाहिए था जिसकी एक ख़ास छवि हिंदी जनमानस में घर कर चुकी है।

फिल्म समीक्षा – बदलापुर

“बदलापुर” कहीं-कहीं अच्छी बन पड़ी है। लेकिन मोटे तौर पर हिन्दी सिनेमा की उसी व्याधि से ग्रस्त है जहां आइडिया और तकनीक तो है लेकिन अभिनय और निर्देशन में चूक हो ही जाती है। जिस फिल्म से अधिक उम्मीदें हों उसमें चूकें अधिक अखरती हैं। इस फिल्म को नवाजुद्दीनके लिए देखिए। नवाज़ हमेशा की तरह […]