टैग पुरालेख: मम्मी

सौ रूपये की कॉफ़ी पीने वाले [कविता]

सौ रूपये की कॉफ़ी पीने वालों को देखकर मेरे मन में अनेक प्रश्न उठते हैं।   बाज़ार में सौ रूपये की कॉफी मिलती है यदि यह मैं मम्मी से कह दूँ तो मम्मी हँसेगी कहेगी ये भी कैसे हो सकता है भला? हिसाब लगा लेगी मम्मी तुरंत इतने का दूध, इतने की कॉफ़ी और इतने […]

स्मृति क्या है

स्मृति क्या है?   स्कूल की टाटपट्टी है जिसे बिछाने, झटकने और लपेटने की पारियाँ बंधी होती थीं।   पापा की बुलेट की टंकी है जिस पर बैठकर मैं एक्सीलरेटर घुमाता और सोचता कि गाड़ी चल रही है।   स्कूल के पास का कुँआ है जिसका पानी मीठा था और जिसमें मेरी चाक-कलम गिर गयी […]