श्रेणी व्यंग्य (Satire)

कोरोना संकट से हमें क्या शिक्षा मिलती है?

#कोरोना संकट से आपने क्या सीखा? #कम्युनिस्ट – इससे हमें यह शिक्षा मिलती है कि कम्युनिज़्म की ओर लौट चलो। #साजिश प्रेमी – इसकी साजिश, उसकी साजिश, उसकी साजिश, इसकी साजिश। #क़िताब वाले – यह सब हमारी आसमान से उतरी क़िताब में पहले ही लिखा था। क़िताब की ओर लौटो। #नास्तिक – कहाँ है? कहाँ […]

वाट लगा रखी है उनकी

यादव जी और जाधव जी पड़ोसी थे। यादव जी की जाधव जी से पटती नहीं थी। एक बार यादव जी ने एक नौकर रखा जिसका नाम था गोदी। गोदी ने आते ही जाधव परिवार की नाक में दम कर दिया। वह यादवों के घर का कचरा जाधवों के घर फेंक देता था। जाधव से गाली-गलौज […]

बेस्ट सेलर किताबों की सूची

2019 – विश्व पुस्तक मेले में इस बार की दस बेस्ट सेलर किताबों की सूची: १०. अकेला ही है जीना मुझको (ग़ज़ल संग्रह) – अरविन्द केजरिवाल ९. ब्लॉगिंग में सफलता पाने के 1001 तरीके – अरुण जेटली ८. आइंस्टीन और न्यूटन के झूठों का संग्रह – इंडियन साइंस कांग्रेस ७. कैद में है शाहजहाँ (उपन्यास) […]

प्रधानमंत्री का साक्षात्कार कैसे लें?

मोदी जी से इंटरव्यू के लिए कड़े और मुश्किल सवालों की सूची। जो चाहे इस्तेमाल कर ले: १. मोदी जी आप बहुत क्यूट हैं। (ये सवाल ही है) २. नरेंद्र मोदी जी आप 24 में 26 घंटे काम करते हैं। इतना कम क्यों सोते हैं आप? ३. आदरणीय प्रधानमंत्री जी, आपने पूरी दुनिया में देश […]

सोशल मीडिया के आदर्श बुजुर्ग

सोशल मीडिया पर विद्यमान एक आदर्श बुजुर्ग वह है जो सुबह उठकर निबटे, फिर पतंजलि के साबुन से हाथ धोकर दंत कांति से मंजन घिसे। अब मोबाइल उठाए। फिर व्हाट्सएप में जितने भी पारिवारिक ग्रुप हैं उनमें गुडमार्निंग का एक मैसेज चिपकाए। उसके बाद मुसलमानों और दलितों को देशद्रोही करार देने वाले दो मैसेज भेजे। […]

भारत में इन दिनों की स्टैंड अप कॉमेडी पर

बीते कुछ सालों में स्टैंड अप कॉमेडी करने वालों और ऐसे आयोजनों की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है। यह अच्छी बात है। इनमें से ज्यादातर कार्यक्रम यू-ट्यूब या सोशल मीडिया पर उपलब्ध हैं। उनमें से काफ़ी कुछ देखने के बाद और कुछ आयोजनों में जाने के बाद मोटे तौर पर यह निष्कर्ष निकलता है […]

चौसर खेलना क्यों है हराम?

चौसर का आविष्कार नूतन शर्मा ने किया था। यह नूतन शर्मा वही है जिसने न्यूटन (चुराया हुआ नाम) के जन्म के 2000 वर्ष पहले भारत में गुरुत्वाकर्षण शक्ति की खोज कर ली थी। नूतन ने यह पूरा ज्ञान लिखकर उसे प्रमाणित करने के लिए आईआईटी मुम्बई में पीएचडी के लिए आवेदन किया था। उस समय […]

नोट बने अंगारे

“नोट बने अंगारे” महाकवि, जनक्रांतिदूत, रूस के निवासी, कॉमरेड निरालाई गुप्तेस्तोव नोटबंदी के कारण बदहाल हुए भारत के सर्वहारा वर्ग की पीड़ा से इतना चिंतित हैं कि उन्होंने एक नए काव्य संग्रह की घोषणा की है। संग्रह का नाम होगा “नोट बने अंगारे”। यह रूस के अगति प्रकाशन से प्रकाशित किया जाएगा। मूल्य होगा – […]

“डिजिटल इंडिया” कालीन भारत की एक बाल कथा

राजू को बहुत भूख लगी थी। उसने मम्मी से कहा मम्मी मम्मी भूख लगी मैगी चाहिए मुझे अभी मम्मी ने कहा ठहर जा मैं व्हॉट्स एप कर रही हूँ राजू रोने लगा मम्मी ने कहा ठहर जा इससे बड़ी समस्या यह है कि कौन सा ओएस लूँ? विंडोज़, आईओएस या एंड्रॉइड? राजू फिर रोने लगा […]

कोई यहां अहा नाचे नाचे!

कल फेसबुक पर मित्र आशुतोष ने कहा कि मुर्गा है जो सारे धर्मों में एकता ला देता है। हमने पूछा लेकिन कौन सा? हलाल या झटका? इसको लाइक तो बहुतों ने किया लेकिन जवाब नहीं दिया तो फिर हमने इस पर गंभीरता से विचार किया और नतीजे पर पहुँच भी गए। नतीजे पर आप भी […]