लेखक पुरालेख: हितेन्द्र अनंत

प्रधानमंत्री का साक्षात्कार कैसे लें?

मोदी जी से इंटरव्यू के लिए कड़े और मुश्किल सवालों की सूची। जो चाहे इस्तेमाल कर ले: १. मोदी जी आप बहुत क्यूट हैं। (ये सवाल ही है) २. नरेंद्र मोदी जी आप 24 में 26 घंटे काम करते हैं। इतना कम क्यों सोते हैं आप? ३. आदरणीय प्रधानमंत्री जी, आपने पूरी दुनिया में देश […]

सोशल मीडिया के आदर्श बुजुर्ग

सोशल मीडिया पर विद्यमान एक आदर्श बुजुर्ग वह है जो सुबह उठकर निबटे, फिर पतंजलि के साबुन से हाथ धोकर दंत कांति से मंजन घिसे। अब मोबाइल उठाए। फिर व्हाट्सएप में जितने भी पारिवारिक ग्रुप हैं उनमें गुडमार्निंग का एक मैसेज चिपकाए। उसके बाद मुसलमानों और दलितों को देशद्रोही करार देने वाले दो मैसेज भेजे। […]

न्यू इंडिया अर्थात पाकिस्तान

मेरठ में एक मुसलमान ने हिन्दू से घर खरीदा। मोहल्ले के लोग और भाजपा पार्षद नारेबाजी करने लगे कि हमें किसी मुसलमान के साथ नहीं रहना। अंततः हिन्दू ने मुसलमान को पैसे वापस किए और घर का सौदा रदद् हुआ। आरएसएस के मुखिया मोहन भागवत का कहना है कि भारत में रहने वाला हर व्यक्ति […]

जाति बनाम हिंदुत्व, गुजरात के संदर्भ में

“हिंदुत्व की प्रयोगशाला” समझे गए गुजरात में जाति एक बार फ़िर धार्मिक पहचान पर हावी है। संघ के प्रयोगों के नतीजे जो सही लग रहे थे अब गलत साबित हो रहे हैं। संघ परिवार का सबसे बड़ा एजेंडा है गैर ईसाइयों और गैर मुसलमानों के अलावा बाकी सबको हिन्दू पहचान के अंतर्गत एकजुट रखना। यदि […]

भारत में इन दिनों की स्टैंड अप कॉमेडी पर

बीते कुछ सालों में स्टैंड अप कॉमेडी करने वालों और ऐसे आयोजनों की संख्या में बड़ी वृद्धि हुई है। यह अच्छी बात है। इनमें से ज्यादातर कार्यक्रम यू-ट्यूब या सोशल मीडिया पर उपलब्ध हैं। उनमें से काफ़ी कुछ देखने के बाद और कुछ आयोजनों में जाने के बाद मोटे तौर पर यह निष्कर्ष निकलता है […]

नहीं है कोई टाइम मशीन

इंग्लैण्ड पर अनेक हमले हुए। अनेकों ने बाहर से आकर उस पर शासन किया। इंग्लैण्ड के केल्टिक निवासी पुरानी इंग्लिश बोलते थे जो अलग-अलग कबीलों में अलग-अलग रूपों में थी। उन पर डचों का हमला हुआ, वाइकिंग्स ने राज किया, रोमन साम्राज्य का राज सदियों रहा, फ़्रांस के नॉर्मन योद्धा विलियम द कॉन्करर ने राज […]

चौसर खेलना क्यों है हराम?

चौसर का आविष्कार नूतन शर्मा ने किया था। यह नूतन शर्मा वही है जिसने न्यूटन (चुराया हुआ नाम) के जन्म के 2000 वर्ष पहले भारत में गुरुत्वाकर्षण शक्ति की खोज कर ली थी। नूतन ने यह पूरा ज्ञान लिखकर उसे प्रमाणित करने के लिए आईआईटी मुम्बई में पीएचडी के लिए आवेदन किया था। उस समय […]

लियू शियाओबो (Liu Xiaobo)

“वह मर गया, लेकिन उसके नाम पर फ़िल्मी रोना-धोना शुरू हो गया है। हम बैठकर इसका मज़ा लेंगे।” – चीनी अख़बार ग्लोबल टाइम्स, एक ट्वीट में जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया। “The person’s gone but a blockbuster tear-jerker is just on — we’ll sit back and enjoy the show.” – Global Times लियू […]

प्लेटफार्म नम्बर एक का देशद्रोह से संबंध

मुम्बई से पुणे यात्रा के लिए जून १९३० को शुरू हुई थी एक ट्रेन – डेक्कन क्वीन (दक्खन की रानी, या दक्खन ची राणी). इसे तब के मुम्बई के रईस अंग्रेज़ों के लिए शुरू किया गया था ताकि वे सप्ताहांत में पुणे आकर रेसकोर्स में घोड़ों की रेस का मजा ले सकें. यह भारत की […]

नफ़रत का मोहब्बत में बदल जाना

एक रोचक क़िस्सा सुनाता हूँ। संघ के पूर्व प्रमुख सुदर्शन जी की मृत्यु के करीब एक महीने पहले ईद के दिन उन्होंने भोपाल के कोह-ए-फ़िज़ा इलाके में मस्जिद में नमाज़ पढ़ने की इच्छा व्यक्त्त की। मप्र के तब के गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने इसकी मालूमात होते ही तुरन्त वहाँ जाकर उन्हें मस्जिद जाने से […]