न्यू इंडिया अर्थात पाकिस्तान

मेरठ में एक मुसलमान ने हिन्दू से घर खरीदा। मोहल्ले के लोग और भाजपा पार्षद नारेबाजी करने लगे कि हमें किसी मुसलमान के साथ नहीं रहना। अंततः हिन्दू ने मुसलमान को पैसे वापस किए और घर का सौदा रदद् हुआ।

आरएसएस के मुखिया मोहन भागवत का कहना है कि भारत में रहने वाला हर व्यक्ति हिन्दू है। मेरठ से पता चलता है (वडोदरा में भी ऐसा हुआ है) कि उसमें जो इस्लाम को मानने वाला हिन्दू है उससे हिन्दू-हिन्दू नफ़रत करते हैं और उत्तर प्रदेश की सरकार उस मुस्लिम-हिन्दू के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा नहीं कर पाई।

ये हिन्दू-हिन्दू फ़िर भी दावा करते हैं कि सहिष्णुता इनके डीएनए में है और चाहते हैं कि मुस्लिम-हिंदुओं को अलग न रहकर इनके साथ रहना घुल मिलकर रहना चाहिए। क्योंकि उनके धर्मग्रंथ इतने महान हैं, इतने महान हैं कि उनमें “एकं सद विप्रा: बहुधा वदन्ति” और “वसुधैवम कुटुम्बकम” लिखा है। “सर्वे भवन्तु सुखिनः” तो लिखा है ही।

यह नए क़िस्म का हिन्दू समाज मोहन भागवत को मुबारक हो। यह वही समाज है जो उनके वैचारिक पितामह सावरकर के सपनों में था।

यह उस क़िस्म का हिन्दू समाज नहीं है जिसके इर्द-गिर्द हम बड़े हुए। यह नया हिन्दू समाज है जिसको देश का एक नेता न्यू इंडिया का नाम दे चुका है।

यदि यह न्यू इंडिया ऐसा ही बनने वाला है तो हमें प्लीज़ पाकिस्तान भेज दो क्योंकि वह ऐसा कबका बन चुका है। हम इंतज़ार क्यों करें? हम सीधा जाकर न्यू इंडिया को भोग लें न पाकिस्तान में!

हितेन्द्र अनंत

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: