कोई यहां अहा नाचे नाचे!

कल फेसबुक पर मित्र आशुतोष ने कहा कि मुर्गा है जो सारे धर्मों में एकता ला देता है। हमने पूछा लेकिन कौन सा? हलाल या झटका? इसको लाइक तो बहुतों ने किया लेकिन जवाब नहीं दिया तो फिर हमने इस पर गंभीरता से विचार किया और नतीजे पर पहुँच भी गए। नतीजे पर आप भी तीन चरणों में पहुँच सकते हैं:

1. अब कुछ दिन पहले ईद थी। ईद की शाम से लेकर अगले दो दिन यहां चौराहों पर शामियाने लगे और डीजे बजने लगा। भाई लोग मौसिक़ी हराम है या नहीं, सूफ़ियत कुफ़्र है या नहीं ये सब भूलकर शेरवानी के नीचे जीन्स का फ्यूजन पहनकर नाचते रहे। साउंड फुल हजारों वाट का। गाने एक-दो कव्वाली-मौला टाइप बाकी वही जो आम्बेडकर जयन्ती में भी बजते हैं।

2. कुछ महीने पहले आम्बेडकर जयंती थी। 13 अप्रैल की आधी रात से चौक चौराहों पर डीजे मस्ती की सीडियां चल चलकर घिस गयीं। हजारों क्या लाखों वाट का साउंड होगा। 13 की रात युवतियां तो नहीं थीं लेकिन 14 की दोपहर तक यहाँ युवक युवतियां सब डीजे मस्ती में झूम रहे थे। यहाँ कपड़े सभी आधुनिक थे। गाने कुछ मराठी आइटम गीत, एक फैन्ड्री का टाइटल गीत, लेकिन बाकी वही जो गणेशोत्सव में बजते हैं।

3. एक महीने बाद गणेशोत्सव आने वाला है जो एक साल पहले भी आया था। अब गणपति जी की दो वक्त की आरती को छोड़ दें तो दस दिन क्या बजता है? वही! डीजे मस्ती! जितने चेतन भगत की किताबों के संस्करण नहीं छपते उतने डीजे मस्ती के नए संस्करण तैयार हो जाते हैं। माने 2005, 2010, 2015 वगैरह। और गाने? वही जो ऊपर के त्यौहारों में बजते हैं। गणेश जी की मूर्ति के सामने “नायक नहीं खलनायक हूँ मैं” और “ए गणपत, चल दारु ला” बजाने वाले भक्तों को आप आधुनिक क्रांतिकारी न कहेंगे तो क्या कहेंगे? यहाँ कपड़ों में आपको शेरवानी से लेकर हाफ पैंट तक सब दिख जाएगा।

तो नतीजा क्या निकला? जनाब यह “डीजे मस्ती” ही है जो सारे धर्मों में एकता ला रही है। अब करना बस यही है कि इन शामियानों को बहुत बड़ा बनाकर सारे धर्मों के लोगों को उसके नीचे लाओ और लाखों वाट के साउंड में यह गाना बजाकर सबको नचवा दो:

कोई यहां अहा नाचे नाचे
कोई वहां अहा नाचे नाचे
सारे हंसीं अहा नाचे नाचे
सारे जवां अहा नाचे नाचे
अव्वा अव्वा
हमको है तुमसे प्यार
अव्वा अव्वा
मानो ना मेरे यार
अव्वा अव्वा!

– हितेन्द्र अनंत

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: