डिजिटल सांस्कृतिक संपदा पुस्तकालय

हिन्दी प्रेमियों विशेषकर वे जो इंटरनेट पर हिन्दी की उपस्थिति के लिये चिंतित रहते हैं, के लिये यह अच्छा समाचार है। भारत सरकार के टीडीआईएल यानी भारतीय भाषाओं के तकनीकी विकास प्रकल्प के क़ॉइलनेट कार्यक्रम के अंतर्गत हिन्दी और लोकभाषाओं के प्राचीन और आधुनिक साहित्य को इंटरनेट पर उपलब्ध कराया गया है। देश के विभिन्न राज्यों के चुनींदा विश्वविद्यालयों के सहयोग से यह कार्य किया गया है। इस प्रकल्प के पीछे जो भी हैं वे साधुवाद के पात्र हैं।

संपूर्ण पुस्तकालय के लिये यहाँ क्लिक करें।

इस पोस्ट में पुस्तकालय की संपूर्ण विषय सूची दी जा रही है। ताकि यदि इतना पढ़ने पर भी आप नये लिंक पर न जा रहे हों तो शायद विषय सूची देखकर ही आप को लालच हो। पर ध्यान रहे विषय सामग्री इतने काम की है कि शायद ही आप सब कुछ अपने कंप्यूटर में सुरक्षित करने से चूकें। हाँ वर्तनी की त्रुटियाँ हैं पर कार्य की महानता और सार्थकता अधिक महत्वपूर्ण है।   

पारम्परिक साहित्य

·         बुद्ध की कहानियाँ

·         हितोपदेश

·         पन्चतंत्र

·         सिंहासन बत्तीसी 

मौखिक महाकाव्य

लोक साहित्य

·         वाराणसी वैभव

·         मगध

·         वैदह वैभवमिथिला- वैभव

·         ब्रज वैभव

राजस्थान·           ·         मेवाड़ ·         मारवाड़ ·         बाड़मेर ·         जैसलमेर ·         बीकानेर ·         अलवर ·         फड़ परम्परा देवनारायण ·         रबारी कढ़ाइ  उत्तर प्रदेश

काशी की विभूतियाँ राम कथा की विदेश-यात्रा

कवि एवं लेखक·         महाकवि विद्यापति ठाकुर ·         कबीर ·         अमीर ख़ुसरो दहलवी ·         मलिक मुहम्मद जायसी ·         रसखान ·         अब्दुर्रहीम खान खाना ·         तुलसीदास ·         सूरदास ·         मीराबाई ·         केशवदास ·         चन्द्रवरदाइ प्रेमचन्ददक्खिनी हिन्दीलेख, डिजिटल चित्र, श्रृव्य, चलचित्र पुस्तकें:

  उत्तरांचल:·         झारखण्ड:

·झारखण्ड प्रदेश और ग्रामीण प्रशासन

 छत्तीसगढ़

·         छत्तीसगढ़ के आदिवासियों के बीच सामान्य जन का मसीहा “कबीर

·         छत्तीसगढ़ – एक आधुनिक नाम

बिहारबिहार एक सांस्कृतिक परिचय

मगध

मिथिला- वैभव

o        युगान्तर

o        अक्षर-अक्षर अमृत

o        महाकवि विद्यापति ठाकुर

o        कल्याणी कोश

मध्य प्रदेश 

4 टिप्पणिया

  1. सूचना के लिये धन्यवाद

  2. उपयोगी सूचना के लिये धन्यवाद

  3. मैं ने यह पन्ना “Favorites” में जोड़ लिया है, ऐसी जोरदार जानकारी रोज़ रोज़ कहाँ मिलती है! धन्यवाद।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: